Message # 422734

मेरे जीवन में आने का,
शुक्रिया मेरे दोस्तो ...
खूना का ना सही तुमसे,
पर नाता हैं वफाओं का ...

जैसे खुशबू से हवाओं का,
जैसे होठों से दुआओं का ...
जैसे रिश्ता धूप से छाँव का,
जैसे पूजा से देवताओं का॥

BACK TO TOP