Message # 419934

🌼🌼🌸🌼🌼
भोर की अप्रतिम किरणे
पृथ्वी कैसी हुई है निहाल,
सूरज ने चमकाया जग को
फैला कर किरणों का जाल..!
🌺सुप्रभात🌺
☀️Good Morning☀️

BACK TO TOP