Message # 419245

तारक वचन :
जे नथी तेनी ईच्छा ऐ ज मोटु दुःख अने ऐ ईच्छा जेटली तीव्र तेटलुं दुःख वधारे!

BACK TO TOP